khargosh sher aur kachhua ki kahani

Khargosh sher aur kachhua ki kahani and kids story in hindi, खरगोश शेर और कछुआ की कहानी

Khargosh sher aur kachhua ki kahani and kids story in hindi

khargosh sher aur kachhua ki kahani and kids story in hindi, खरगोश शेर और कछुआ की कहानी, खरगोश कछुए से कहता है कि तुम अधिक तेज नहीं दौड़ सकते हो मैं सबसे अधिक तेज दौड़ सकता हूं तुम इस बात को समझ सकते हो, क्योंकि अगर तुम अपने मन में यह सोच रहे हो कि तुम मुझे पहले दौड़ में हरा चुके हो तो यह सोच तुम्हारी गलत साबित हो सकती है khargosh kachhua से कहता है कि मुझे उस दिन की बात याद है

khargosh sher aur kachhua ki kahani and kids story in hindi

khargosh sher aur kachhua ki kahani
khargosh sher aur kachhua ki kahani

मैं अधिक दौड़ने की वजह से सो गया था जिसकी वजह से तुम दौड़ जीत गए थे जबकि आज ऐसा नहीं हो सकता अगर मैं आज तुमसे दौड़ लगाता हूं तो तुम्हारी हार निश्चित है Because तुम अच्छी तरह से जानते हो कि तुम मुझसे अधिक तेज नहीं दौड़ सकते हो यह बात समझ सकते हो but फिर भी तुम उस दिन की जीत के लिए बहुत खुश हो रहे होगे और मैं यह चाहता हूं कि तुम्हें यह बात अपने मन से बाहर निकाल देनी चाहिए कि तुम मुझे दौड़ में हरा सकते हो

 

kachhua कहता है कि मैं इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहता ही है उस दिन की बात है अब इस बारे में कोई भी बात नहीं होगी मैं तुमसे इस बारे में कुछ नहीं कहना चाहता जब यह दोनों बातें कर रहे थे तभी sher दूर से खड़ा हुआ उन दोनों की बातें सुन रहा था और बातें सुनने के बाद sher उनके पास आता है और कहता है कि तुम किस बारे में बात कर रहे हो मुझे भी पता होना चाहिए खरगोश कहता है कि आप राजा हो आप इस बारे में सब कुछ जानते हो

 

यह kachhua एक दिन मुझसे जीत गया था उसी दिन के बाद यह बहुत खुश हो रहा है उस दिन के बाद उसने कभी भी मुझसे दौड़ नहीं लगाई है शेर कहता है कि अच्छा तुम उस दिन की बात कर रहे हो मुझे भी पता है कि तुम उस दिन सो गए थे जिसकी वजह से तुम हार गए थे और यह kachhua जीत गया था khargosh कहता है कि मैं यही बात इसे बताना चाहता हूं but यह समझने के लिए तैयार नहीं है शेर करता है कि इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है Because यह बहुत समय पहले की बात है but आज जो हो रहा है

 

वह अच्छा ही होगा sher कहता है कि आज मुझे बहुत भूख लग रही है और मेरे सामने आज शिकार भी है इसलिए मैं अपने शिकार को जाने नहीं दे सकता हूं khargosh कहता है कि वह शिकार कौन सा है जिसे आप जाने नहीं देंगे sher कहता है कि तुम मेरा शिकार हो अब मैं तुम्हें जाने नहीं दूंगा यह सुनकर khargosh वहां से भागने की कोशिश करता है क्योंकि khargosh समझ जाता है कि शिकार शेर का मुझे बनना नहीं है इसलिए मुझे यहां से भाग नहीं होगा शेर खरगोश का पीछा करता होगा khargosh भागता हुआ बिल में छुप जाता है शेर कहता है कि बाहर निकलो तुम बहुत तेज दौड़ते हो यह बात मुझे समझ में आ रही है but तुम मुझ से बच नहीं सकते इस बिल में तुम कब तक छुपे रहोगे

 

जब भी बाहर निकलोगे मैं तुम्हारे शिकार जरूर करूंगा आज khargosh बच गया था Because शिकार होते-होते वह बच गया था शेर उसका पीछा नहीं छोड़ने वाला है इसलिए khargosh को इस जगह से दूर चले जाना चाहिए नहीं तो वह शिकार बन जाएगा उधर kachhua ने देख लिया था कि शेर खरगोश के पीछे भाग रहा है इसलिए उसे भी चला जाना चाहिए kachhua वहां से बाहर निकल गया Because शेर उस पर भी हमला कर सकता था जिसकी वजह से उसे नुकसान पहुंच सकता था

 

sher को बहुत गुस्सा आ रहा था वही kachhua की तरफ जाने लगा ले but वहां कछुआ नहीं था वह भी जा चुका था but कछुआ धीरे-धीरे खरगोश की ओर चला गया था उसके बाद में कहने लगा कि तुम्हें शेर ढूंढ रहा है खरगोश कहने लगा कि तुम्हें इससे कोई मतलब नहीं है मैं अपने आप को शेर से बचा सकता हूं but एक बात खरगोश समझ गया था कि अगर शेर उस पर गुस्सा हो गया तो वे जरूर उसी का पीछा करता रहेगा

Khargosh sher aur kachhua ki kahani and kids story in hindi

इसलिए खरगोश को बच के रहना चाहिए यह बात अच्छी तरह जानता था और खरगोश इस बात को भूल गया था कि कछुआ और खरगोश की रेस में कछुआ ही जीत गया था अगर आपको यह khargosh sher aur kachhua ki kahani and kids story in hindi पसंद आई है तुम्हारी भी शेयर करें कमेंट करके हमें बताएं

Read More Hindi story :-

जादुई आईना मोरल हिंदी कहानी

राजा और बंदर की कहानी

परियों की दो नयी हिंदी कहानी

कौवा और चिड़िया की दोस्ती की कहानी

मोटू और पतलू की नयी दूकान की कहानी

अकबर बीरबल और जादूगर की गुफा की कहानी

राजकुमारी और राजकुमार की दो नयी कहानी

किसान की अनोखी पंचतंत्र की कहानी 

जादुई घड़े की हिंदी कहानी 

नानी की अनोखी कहानी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!